domain name meaning in hindi | 4+ steps को फॉलो करके डोमेन नाम रजिस्टर करे

अपने Blog को एक Brand बनाना चाहते हैं तो इसके लिए Content के साथ साथ और भी Factor Matter करते हैं, जिनमे से एक Domain Name है। यदि आप Seriously Blogging करने का सोच रहे हैं तो यह जानना बहुत जरूरी है कि डोमेन नाम क्या है?, domain name register करने से पहले किन बातो का ध्यान रखना चाहिए?

Domain Name ही हमारे Blog की असली पहचान होती है। आपको भी तो कई Blogs के नाम ऐसे ही मुहजबानी याद होंगे। तो आप खुद समझ सकते हैं कि ऐसा Domain Name जिसे आसानी से याद किया जा सकता है और किसी भी business या वेबसाइट के लिए एक सही domain name होना कितना जरूरी होता है। तो चलिये जानते है Domain Name के बारे में सब कुछ विस्तार से। 

Domain Name Meaning In Hindi ( डोमेन नाम क्या है ) 

यदि हम Domain Name के बारे में चर्चा करें, तो आपकी Website का नाम डोमेन होता है। सरल शब्दों में समझा जाए तो Domain Name एक ऐसा web address होता है. जहां पर इंटरनेट उपभोक्ता बड़ी आसानी से आपकी Website तक पहुंच सकते हैं।

जैसे की देखा जाए तो इंटरनेट पर Website ढूंढने में और Website की पहचान करने के लिए डोमेन नाम का इस्तेमाल किया जाता है। उदाहरण के तौर पर clickhindi.com यह मेरी site का web address है. और इससे आप मेरी site के data को access कर सकते हो.

यह एक तरीके का कंप्यूटर IP address का इस्तेमाल किया जाता हैं, जो संख्या की एक श्रृंखला होती है। मुख्य रूप से Domain Name अक्षरों (A,B,C….) और संख्याओं (1,2,3…..) का कोई भी संयोजन हो सकता है, और डोमेन का इस्तेमाल कई अलग अलग डोमेन नाम एक्सटेंशन, जैसे .com, .net इत्यादि में भी किया जा सकता है। 

डोमेन नाम इस्तेमाल करने से पूर्व Domain Name registered होना आवश्यक होता हैं। सभी अलग अलग Domain Name एक दूसरे से भिन्न यानी की अलग-अलग होता है।

आसान शब्दों में कहा जाए तो दो Website का Domain Name एक जैसा बिल्कुल नहीं होता है। उदाहरण के तौर पर समझा जाए तो मान लीजिए की कोई व्यक्ति आपकी Website का नाम टाइप करता है, तो वो सीधे आपके साइट पर जाएंगे ना की दूसरे साइट पर। 

Domain Name Registration kya hai? 

दोस्तों, आप चाहें तो Domain Name के तौर पर किसी Word या sentence का इस्तेमाल करने के बारे में सोच सकते हैं। अगर उदाहरण के तौर पर मान लेते है की अगर आपकी कोई Company है तो, आप चाहे तो अपनी कंपनी का नाम से ही domain name में रखने के बारे में सोच सकते हैं, इससे आपको यह लाभ होगा की आपके यूजर्स के लिए आपको इंटरनेट पर खोजना काफी सरल हो जाएगा। 

कहने का तात्पर्य यह है की एक लंबा डोमेन किसी भी व्यक्ति को याद रखने में मुश्किल होता है,

आपके जानकारी के लिए बता दे की Website रेडी करने के पश्चात इंटरनेट पर इसकी मौजूदगी को सुनिश्चित करने हेतु आपके खुद के साइट को Domain Name की जरूरत पड़ती है। तो यूजर इस डोमेन के नेम का इस्तेमाल कर इंटरनेट पर आपके माध्यम से उपलब्ध प्रोडक्ट्स तथा सर्विस को खोजने के लिए करते हैं।

इसलिए बहुत सारे ब्लॉगर डोमेन नाम पंजीकरण करते समय अपने इंडस्ट्री संबंधित keyword रखते है. जैसे अगर आप finance के बारे में लिखना पसंद करे है तो आप finance संबदित keyword डोमेन नाम के अंदर रख सकते है. क्योंकि कुछ ऐसे सर्च इंजन भी मौजूद है. जो किसी Domain Name में Keyword का इस्तेमाल search engine algorithm के भाग के रूप में करते हैं।

जब आपने सोच लिया कि आपको कोनसा डोमेन नाम लेना है अब आपको यह भी देखना है कि इसके लिए best domain extension क्या रहेगा.

Domain name Extension meaning in hindi

डोमेन एक्सटेंशन एक तरीके TLD (Top Level Domain) होता है. जो कि आपके Web Address के पीछे लगता है. दुनिया में ज्यादातर लोग .COM Domain Extension का ही इस्तेमाल करते है. लेकिन आप .com के अलावा भी बहुत सारे TLD डोमेन होते है जिसका आप इस्तेमाल कर सकते हो.

देखा जाए तो 2014 में 1000 TLD डोमेन बनाए गए थे. और इन डोमेन को अलग अलग country या अलग सिस्टम के लिए बनाए गए थे. जैसे अगर .gov डोमेन एक तरीके से देश कि सरकारी वेबसाइट को रिप्रेजेंट करता है.

और अपने भी अपने देश की बहुत सारी सरकारी डोमेन नाम .gov.in में देखी होगी यानी कि .in यानी India कि government website.

वैसे gov domain हम नहीं ले सकते क्योंकि यह किसी सरकारी organisation को रिप्रेजेंट करती है. और यह सबके लिए नहीं बनी होती है.

कुछ best TLD Domain जिसमें आप अपना डोमेन नाम रजिस्टर करा सकत हो.

  • .com
  • .in
  • .co.in
  • .net
  • .org
  • .co
  • .online
  • .xyz
  • .live
  • .tech
  • .blog

आप इन डोमेन एक्सटेंशन की तरफ जा सकते हो. 

आप डोमेन नाम का पंजीकरण आप चाहे तो कई अलग अलग कंपनियों के माध्यम से भी करवाने के बारे में सोच सकते हैं। भारत में मौजूद ऐसी Companies जो डोमेन के नेम का पंजीकरण करवाने का कार्य करती हैं उसका नाम domain registrar होता है। 

एक सर्वे के अनुसार पता चला है की Domain Name का पंजीकरण मुख्य तौर पर वही Companies अपने द्वारा करवाने का कार्य करती हैं जिनके web Hosting Server पर आप खुद के Website host करते हों।

परंतु यदि हम पिछले कुछ समय की बात करें, तो इस प्रबंध में कुछ चेंजेज किया गया है, अब Domain Name register और Web Space खरीदने हेतु आप चाहे तो कई अलग अलग Company का चुनाव कर सकते हैं। 

यानी दोनों होस्टिंग एंड डोमेन नाम अलग अलग सर्विस प्रोवाइडर से खरीदकर आप डोमेन नाम के DNS setting में Nameserver से जोड़ कर अपने वेबसाइट को लाइव कर सकते है.

तो अब आपके मन में यह सवाल उठ रहा होगा कि यह सब कैसे होता है और इसके पीछे कि टेक्नोलॉजी क्या है.

Domain Name system कैसे कार्य करता है? 

domain name system meaning in hindi

तो अब हम अपने आगे के लेख में Domain Name कैसे कार्य करता है ये जानने वाले हैं। तो गौर कीजिए जब हम वेब ब्राउजर के एड्रेस बार में किसी अन्य Website के Domain Name लिखकर उसे सबमिट करते हैं, तो यह डीएनएस आपको बता दूं कि डीएनएस का अर्थ होता है Domain Name system होता है और सबमिट के बाद ये DNS के पास ही जाता है। 

Domain Name System के पास यह डिटेल्स होती है की उस Website का आईपी एड्रेस क्या है और वह कौन से server पर उसका databse है. 

अब आपको बता दूं कि DNS उस डोमेन को आईपी एड्रेस में चेंज करने का कार्य करता है और आईपी से यह जानकारी मालूम होता है कि Website कौन से सर्वर पर मौजूद होता है। 

उसके बाद Website के hosting server को request send किया जाता है। फिर सर्वर उस रिक्वेस्ट को प्रक्रिया करने के पश्चात लास्ट में अपने ब्राउजर को डाटा सेंड कर देता है। जिससे यूजर आपके website का डाटा access कर पाते है.

और यह प्रक्रिया बहुत फास्ट होती है. यानी कि कुछ ही सेकंड में आपको सर्वर का डाटा वेबसाइट पर देखने को मिलता है.

Domain Name register करते समय किन बातो का ध्यान रखना चाहिए.

  • आपको हमेशा छोटे Domain Name का चयन करना चाहिए। लगभग 4-12 तक अक्षरों के डोमेन जो आसानी से याद हो जाए।
  • आपको ऐसा Domain Name रखना चाहिए जो बोलने में काफी easy हो और याद भी काफी जल्दी हो जाए।
  • आपका Domain Name किसी भी अन्य डोमेन से मैच नहीं करना चाहिए और अनौखा होना चाहिए जिससे आप काफी सरलता से ब्रांड बना सकें। 
  • आपको बता दूं कि आपको Domain Name में कोई खास कैरेक्टर जैसे कि नंबर्स, हाईफेम जैसा न रखें। 
  • आपको हमेशा टॉप लेवल डोमेन प्राप्त करने की कोशिश करे जिसे विश्व में सभी व्यक्ति जानते हों। 
  • आपका Domain Name आपके बिजनेस या फिर बिजनेस प्रोफाइल से जुड़ा या मैच करता हो। इससे आपको ब्रांड निर्माण करने में आसानी होती है। 

DNS ( Domain Name System ) की परिभाषा क्या है? 

मुख्य रूप से देखा जाए तो इसका मुख्य कार्य Domain Name System को ip address में चेंज करना होता है। आपको बता दूं कि डीएनएस उस नाम को आईपी एड्रेस में चेंज कर देता है जो की उसके सर्वर को pointed किया होता है।

सरल शब्दों में समझे तो हम किसी भी Website का आईपी एड्रेस याद कर लें, तो यह बहुत मुश्किल काम होता है जैसे मैंने पहले बताया की IP address एक 12 digit No. होता है.

और इसको याद करना बहुत मुश्किल काम होता है. जैसे कि कोई मोबाइल नंबर याद करना हो. तो इन आईपी एड्रेस याद न करना पड़े इसके लिए domain name system का इस्तेमाल किया जाता है। 

Domain Name का इस्तेमाल आईपी एड्रेस के लिए क्यों होता है? 

DNS ये नाम आईपी एड्रेस को रिप्रेजेंट करता है, एक या उससे अधिक आईपी को ढूंढने के लिए साइट नेम का प्रयोग किया जाता है। सरल शब्दों में समझा जाए तो आईपी एड्रेस को याद नही किया जा सकता क्योंकि आईपी एड्रेस नंबर डिजिट में होता है। वही पर साइट नेम को याद करना सरल होता है और इसे अपने टॉपिक के मुताबिक चयन भी कर सकते हैं। 

Top Domain Name System Provider Companies ? 

दोस्तों, क्या आप भी खुद का Blog निर्माण करने का सोच रहे हैं? या फिर क्या आप भी अपने किसी व्यवसाय के लिए Website निर्माण करने का सोच रहे हैं यदि हां तो आपको बता दूं कि उसके लिए आपको अपना डोमेन खरीदने की आवश्यकता होती है। चलिए दोस्तों अब हम आपको टॉप Domain Name Resgistrar कंपनीज के नाम की जानकारी प्रदान करने वाले हैं जिससे आप अपना खुद का डोमेन खरीद सकते हैं। 

  • GoDaddy
  • bluehost
  • BigRock
  • India Links
  • Namecheap
  • hostgator
  • hostinger

Domain Name Register Kaise kare?

domain name register करने के लिए जैसे मैंने ऊपर कुछ domain registrar के नाम बताए जैसे की godaddy, hostinger, namecheap etc. से आप आसानी से कुछ आसान स्टेप्स को फॉलो करके आप डोमेन नाम खरीद सकते है.

जैसे में इन उदहारण में hostinger के domain registrar से आपको इन domain registration का process इसमें बताऊंगा

  1. सबसे पहले आप hostinger पर जाए?

    सबसे पहले आप hostinger पर जाए और वहा पर menu से domain search पर जाए.

  2. domain name search करे

    domain name register kaise kare

    अपना मनपसंद जो आप के बिजनेस का नाम या आप जिसपर ब्लॉग स्टार्ट करना चाहते हो. उस कीवर्ड से आप domain name search करे.

  3. अपने मनपसंद डोमेन नाम को व एक्सटेंशन को choose करे

    domain name register kaise kare

    अब जो भी आपको बढ़िया डोमेन व एक्सटेंशन जो hostinger आपको suggest कर रहा है. आप उनमें से कोई भी खरीद सकते है और अगर आपका डोमेन नेम जो आपको चाहिए वो taken दिखा रहा है तो थोड़ा नाम में बदलाव करके देखे।

  4. domain name purchase करे.

    अब डोमेन को Add to cart करे और अपना अकाउंट बनाकर अपनी पेमेंट को कंप्लीट करे. और अब आपका डोमेन आपके अकाउंट मे आ गया है.

Domain Name क्यों जरूरी होता है ? 

जानकारी के मुताबिक, डोमेन एक Website का एड्रेस होता है जो जिसे हम अपने ब्राउज़र के URL Bar में टाइप करते हैं, जो .com, .net, .in, .id, .org इत्यादि से खत्म हो जाता है, जिसे हम Domain Name कहते है। डोमेन नाम को शेयर शब्दो में समझे तो यह एक शॉर्टकट के जैसे होते हैं जो हमें अन्य Website को होस्ट करने वाले Server पर Point करते हैं। इसलिए डोमेन नाम बहुत जरूरी हो जाता है वेबसाइट के सर्वर के data को access करने के लिए.

इसके अलावा अगर कोई बिजनेस ऑनलाइन है. तो सबसे ज्यादा जरूरी होता है. कि वो अपने कंपनी के नाम से एक domain name register कर ले. ताकि वो ऑनलाइन दुनिया में अपनी एक अलग सी पहचान बना पाए. और लोग उसे गूगल पर सर्च करे तो उसकी वेबसाइट होने की वजह से गूगल उसका रैंक कर पाए.

FAQ :- 

डोमेन का हिंदी अर्थ ? 

ऑनलाइन स्तर पर देखा जाए तो “डोमेन” किसी भी Website के एड्रेस को कहा जाता है।  हिंदी में यह शब्द कार्यक्षेत्र को दर्शाता है। 

डोमेन नाम सर्च कैसे करे ? 

domain name find kaise kare

डोमेन नाम सर्च करने के लिए आपको GoDaddy account बनाना होगा उसके बाद आप GoDaddy के जरिए Domain Name सर्च कर सकते हैं। इसके अलावा कुछ और Tools है। जिससे आप एक ही कीवर्ड से आपको बहुत सारे suggestion मिल जाएंगे। जो कि अभी available है.

1. Dictionary Domains.
2. Nameboy.
3. Namestation.
4. 123finder.com.
5. Domize.
6. Wordoid.
7. Lean Domain Search

Domain Name system क्या है? 

Domain Name system (DNS) एक श्रेणीबद्ध और विकेन्द्रीकृत नामकरण प्रणाली है जिसका इस्तेमाल हम इंटरनेट या अन्य इंटरनेट प्रोटोकॉल नेटवर्क के द्वारा मौजूद computer, service और अन्य संसाधनों की पहचान करने के लिए किया जाता है।  

domain और sub domain में क्या अंतर है ? 

मुख्य रूप से देखा जाए तो डोमेन और सबडोमेन के बीच ज्यादा फर्क नहीं है। क्योंकि मुख्य रूप से दोनों का कार्य एक ही होता है। इन दोनों में सिर्फ यह ही फर्क है कि सबडोमेन हमेशा मुख्य Domain या पैरेंट Domain पर डिपेंड करता है।

उदहारण के तौर पर डोमेन- clickhindi.com जबकि sub domain चाहे तो हम यह इसके आगे लगा सकत है जैसे कि tools.clickhindi.com और अब यह डोमेन पूरा ही अलग हो जाता है. इसका सर्वर भी main domain से अलग बनाना पड़ता है. यानी इसको एक तरीके से नए डोमेन की तरह देखा जा सकता है.  

Domain Authority क्या है? कैसे चेक करें? 

कोई Domain Search Engine की नजर में कितना पुराना है और कितना बढ़िया है उसकी Domain Authority से मिलती है। इसे DA भी कहा जाता है। इसे MOZ Company के द्वारा बनाया गया है। इसके अंतर्गत किसी Website को 1-100 की बीच नंबर दिए जाते हैं। DA Tools की मदद से Check किया जा सकता है। कुछ Tools इस प्रकार है:- 

1. Moz domain authority checker (free)
2. Small SEO domain authority checker (free)
3. seooptimer

अंतिम शब्द

तो दोस्तों क्या आपको समझ आ गया कि Domain Name kya hai? यदि हाँ तो Comment से हमें बता सकते हैं। Domain Name से संबंधित प्रश्न यदि आपके पास है तो वह भी पूछ सकते हैं। हम उचित समाधान देने की कोशिश करेंगे। 

Share on:

अपने ब्लॉग से ऑनलाइन पैसा कमाना सीखे।

"आज ही सब्सक्राइब करे और ऑनलाइन पैसे कमाने संबंधित नवीनतम पोस्ट पाए"

नमस्कार दोस्तों, मेरा नाम धीरज है, और इस ब्लॉग पर में blogging, technology, internet से जुड़े सम्बंदित post इस ब्लॉग पर अपडेट करता रहता हु. में आशा करता हु की मेरे द्वारा लिखी गई post आपको पसंद आएगी। अगर आपको ब्लॉग सम्बंदित कोई भी जानकारी चाहिए तो आप बेझिझक पूछ सकते है. मुझे लोगो की हेल्प करना बहुत ही अच्छा लगता है, प्रॉब्लम होने पर हमसे contact अवश्य करे.

Leave a comment